Sita vivah geet lyrics gauri puja सीता विवाह गीत लिरिक्स गौरी पूजा - Bhojpuri best

Latest

Thursday, August 22, 2019

Sita vivah geet lyrics gauri puja सीता विवाह गीत लिरिक्स गौरी पूजा

Sita vivah geet gauri puja -  प्रस्तुत गीत सीता के द्वारा गौरी पूजन का है इस गीत में सीता विवाह से पूर्व राम को वर के रूप में प्राप्त करने के लिए पुष्प वाटिका में गौरी पूजन करती है और उनको वर के रूप में प्राप्त करना चाहती है।

इस पूजन के लिए सीता अपने विश्वासपात्र सखी - सहेलियों के साथ जाती है , इस गीत के माध्यम से उस समय के परिवेश को उतारने का प्रयत्न किया गया है। सीता के हाथों में कंचन थाल है जिसमें पूजा की सभी सामग्रियां है और सखियां मंगलाचार करती हुई गौरी पूजन कर रही हैं।
सीता ने किस प्रकार का श्रृंगार किया हुआ है और किस प्रकार की साड़ी पहनी हुई है जो मनोहारी है , यह सब देवी दुर्गा गौरी की प्रसन्नता के लिए है।  मां का आशीर्वाद से ही राम को पृथ्वी लोक पर प्राप्त कर सकती है , ऐसा मानते हुए सीता गौरी पूजन के लिए प्रस्तुत हुई है। 



Sita vivah geet gauri puja


पूजन गौरी चली सिया प्यारी 
पूजन गौरी चली सिया प्यारी
पूजन गौरी चली सिया प्यारी
संग सखिन के जनक नंदिनी
संग सखिन के जनक नंदिनी 
चली मुदित मनहारी 
पूजन  गौरी चली सिया प्यारी
 पूजन गोरी चली सिया प्यारी
कंचन जड़ीत थाल शुभरन के 
कंचन जड़ीत थाल शुभरन के  
दधि लोचन फल सुपारी 
पूजन गौरी चली सिया प्यारी 
पूजन गोरी चली सिया प्यारी

गावत मंगल गीत मनोहर 
गावत मंगल गीत मनोहर 
गावत मंगल गीत मनोहर 
गावत मंगल गीत मनोहर
पहने कुसुम रंग साड़ी 
पूजन गौरी चली सिया प्यारी 
पूजन गौरी चली सिया प्यारी

पूजा किन्ही अधिक अनुरागी 
पूजा किन्ही अधिक अनुरागी 
निज अनुरूप सुभग वर मांगी 
निज अनुरूप सुभग वर मांगी  
पूजन गौरी सलीसिया प्यारी
पूजन गौरी सलीसिया प्यारी


कंचन थाल कपूर की बाती  
कंचन थाल कपूर की बाती  
आरती करत सखीं सब प्यारी 
आरती करत सखीं सब प्यारी
पूजन गौरी चली सिया प्यारी 
पूजन गोरी चली सिया प्यारी
पूजन गौरी चली सिया प्यारी 
पूजन गौरी चली , गौरी चली , 
गौरी चली सिया प्यारी


our Facebook page 



Subscribe us on youtube

No comments:

Post a Comment