Best bhojpuri bhajans with lyrics in hindi and english - Bhojpuri best

Latest

Best bhojpuri songs, bhajans, geet lyrics with images and video. Bhojpuri jokes, stories, shayari and much more. Geet by sharda sinha, khesari lal yadav, bharat sharma, Pawan singh, manoj tiwari and more.

Friday, March 29, 2019

Best bhojpuri bhajans with lyrics in hindi and english

Bhojpuri bhajans


Below are presented by us best 3 bhojpuri bhajans with their lyrics and video. Go read them and share with other people too.


का लेके शिव के मनाई हो शिव मानत नाही


ka leke shiv ke manayb ho bhojpuri bhajans







का लेके शिव के मनाई हो शिव मानत नाही,

पुरी कचौड़ी शिव के मनहू ना भावे भांग धतूरा कहा पाइब हो शिव मानत नाही

का लेके शिव के मनाई हो शिव मानत नाही……..





शाला दुशाला शिव मन हू ना भावे
मृगा के छाल कहा पाइब हो शिव मानत नाही

का लेके शिव के मनाई हो शिव मानत नाही……





मोटर गाड़ी शिव के मनहू ना भावे

बसहा बैल कहा पाइब हो शिव मानत नाही

का लेके शिव के मनाई हो शिव मानत नाही…………….





कोठा अटारी शिव के मनहू ना भावे
टुटली मडइया कहा पाइब हो शिव मानत नाही।

का लेके शिव के मनाई हो शिव मानत नाही,……





सोना के चैन शिव के मनहू ना भावे

शर्प के माला कहा पाइब हो शिव मानत नाही

का लेके शिव के मनाई हो शिव मानत नाही ……


जगदम्बा घर में दियरा बार अइनी हे Lyrics in hindi and english




जगदम्बा घर में दियरा बार अइनी  हे
जगतारण घर में दियरा बार अइनी हे
जगदम्बा घर में दियरा बार अइनी हे
जगतारण घर में दियरा



सोने सुराही गंगाजल पानी
सोने सुराही गंगाजल पानी
मैया के चरण पखार अइनी हे हम
मैया के चरण पखार अइनी हे
जगदम्बा घर में दियरा बार अइनी हे
जगतारण घर में दियरा बार अइनी हे
जगदम्बा घर में दियरा



सोने की थाली में व्यंजन परोसल
सोने की थाली में व्यंजन परोसल
मैया के भोग लगा अइनी हे हम
मैया के भोग लगा अइनी हे
जगदम्बा घर में दियरा बार अइनी हे
जगतारण घर में दियरा बार अइनी हे
जगदम्बा घर में दियरा



कंचन थार कपूर की बाती
कंचन थार कपूर की बाती
मैया के आरती उतार अइनी हे
हम मैयाके आरती उतार आइली हे
जगदम्बा घर में दियरा बार अइनी हे
जगतारण घर में दियरा बार अइनी हे
जगदम्बा घर में दियरा

भोला के देखेला बेकल भइले जियरा lyrics in hindi






भोला के देखेला बेकल भइले जियरा ३



के चढ़ावे आछत चन्दन, के बेल पतिया २

के चढ़ावे आहो भोला धतुरा के पतिया २

भोला के देखेला बेकल भइले जियरा





पंडित चढ़ावे पान फूल, पुजारिन बेलपतियां २

हम चढ़ाइब आहो भोला, धतुरा के पतिया २

भोला के देखेला बेकल भइले जियरा





के माँगे अन्न धन, के माँगे नेहिया २

के माँगे आहो भोला दर्शन देबह कहिया २
भोला के देखेला, बेकल भइले जियरा





पंडित माँगे अन्न धन, पुजारिन माँगे नेहिया २

हम माँगी आहो भोला, दर्शन देबह कहिया २

भोला के देखेला, बेकल भइले जियरा



Please like our Facebook page 

Subscribe us on youtube 

No comments:

Post a Comment